Home Internet DNS Kya Hai? What Is Domain Name System और यह कैसे काम...

DNS Kya Hai? What Is Domain Name System और यह कैसे काम करता हैं? हिंदी में

SHARE
What is DNS kya hai

Kya Hai? What Is Domain Name System In Hindi –

नमस्कार, मैं अपने इस ब्लॉग पर रोजाना टेक्नोलॉजी से जुड़ी Tips और Tricks यहां शेयर करता हु, औkर जो लोग Online Money Earnings करना चाहते हैं उनके लिए Blogging से जुड़ी जानकारियां यहां पर शेयर करता हूं।
 Dns kya hai
आज के इस पोस्ट में हम जानने वाले हैं कि DNS Kya Hai? और यह कैसे काम करता हैं, ये पोस्ट ज्यादा लंबी नही होगी इसलिए पूरी जानकारी ले कर ही जाए। तो चलिए जानते है DNS Kya Hai
Also Read Post –

Domain Name System क्या होता हैं?

DNS – DNS Kya Hai? इस का फुल Domain Name System हैं, जो लोग ब्लॉगिंग करते है या जिनका खुद का साइट होगा वो ये बात जानते ही होंगे। DNS का काम DomainName को IP Address में Convert करना होता हैं।

 

जब भी हम किसी भी Domain के नाम को Web Browser में Type करते है तो ये DNS उसको IP Address में Convert करता हैं और इस तरह ये किसी भी Network में किसी भी कंप्यूटर और Host Name को भी ये IP Address में बदल देता हैं।

DNS कैसे काम करता हैं?

DNS इसलिए उसे यूज़ होता है क्योंकि हम किसी भी IP Address की तुलना में यह किसी भी Domain को आसानी से याद रखना आसान हैं, हमें Alphanumeric Name इसलिए याद हो जाता है क्योंकि ये IP Address की तुलना में याद रखना ज्यादा आसान होता हैं.
Dns kya hai kaise kam karta hai
Example के तौर पर जब हम किसी भी वेबसाइट का URl Browser में टाइप करते है जैसे – www.exmaple.com को ब्राउज़र में टाइप करते है तो DNS इसको 198.14.54.23 में या इसी प्रकार की किसी IP Address में बदल देता हैं, अब आप खुद देखिए किसको याद रखना ज्यादा आसान हैं, किसी Domain Name को या उसके IP Address को।

DNS – IP Address को कैसे Find करता हैं?

DNS Kya Hai अब आपको ये बात तो समझ मे आ गई होगी पर अब हम ये जानते है कि किसी भी Public IP Address के केस में बहुत से यानी अनगिनत DNS और IP Address हो सकते हैं, तो जाहिर सी बात है कि किसी एक Server के पास तो सभी Informations को स्टोर करके नही रख सकता हैं।

 

इसी वजह से जब भी किसी Server के पास IP की Query आती है तो पहले Server पर आती हैं, पर अगर उस सर्वर के पास उस से जुड़ी IP Address नही पता होता है तो वह उस से Connected दूसरे सर्वर के पास उस Query को भेज देता है रेसॉल्व करने के लिए। ये काम टैब तक चलता रहता है जब तक वह IP Address का पता नही लगा लेते हैं।

 

मुझे उम्मीद है कि आपको समझ आ गया होगा कि DNS Kya Hai और यह कैसे काम करता हैं, मुझे इस पोस्ट में आपको बस इतना ही बताना था। फिर भी आगत आपके मन मे कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करके जरूर बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here