Home Internet eSim Kya Hai? ये कैसे काम करता हैं और इसका इसिहास क्या...

eSim Kya Hai? ये कैसे काम करता हैं और इसका इसिहास क्या हैं? 

SHARE
नमस्कार दोस्तों, Kya Hai?  ये सवाल आपके मन मे भी  आता  होगा और यह कैसे काम करता हैं? क्योंकि अभी के फ़ोन्स की बात करे तो अब कई Smartphones ऐसे है जो eSim को Support करते हैं, ये बात अभी की नही हैं जब Google ने अपना पहला फ़ोन Google Pixel को लांंच किया था तब से ही यह चलन में हैं, उसके बाद Pixel 2 आया Pixel 2XL आया इन सभी फ़ोन्स में eSim का सपोर्ट हैं।

 

सिर्फ यही नही आपको बता दु की पिछले साल लांच हुए Apple iPad 9.7 और Samsung Galaxy Gear S2 3G में भी eSim का सपोर्ट हैं। साथ ही अब इस साल Apple ने अपने तीन नए फ़ोन्स मार्किट में उतारा है जिसका नाम है Apple XS, XS MAX और Apple XR जिनमे भी eSim का Support हैं।

 

-: इन्हें भी पढ़ें :-

तो कुल मिलाकर यह वो फ़ोन्स है जिनमे अभी eSim का सपोर्ट हैं, इस eSim केे तकनीक को पूरी तरह से आने में अभी समय लग सकता हैं यानी हम यह कह सकते है कि यह बहुत जल्द ही बाकी के फ़ोन्स में भी उपलब्ध हो सकता हैं जो कि फ्यूचर के स्मार्टफोन में यूज़ हो सकता हैं। तो दोस्तों चलिए पहले जानते है कि आखिर eSim Card का इतिहास क्या हैं?

 

का इतिहास और इसका उदय –

जैसा कि हम सब जानते है कि जब से स्मार्टफोन (Mobile Phones) Calling और का एक मुख्य आधार बन चुके हैं, जिसकी मदद से जब दिल चाहे कही से भी  कॉल करना आसान हो जाता हैंं। और इसके लिए यूज़र्स को सिम कार्ड की जरूरत तो पड़ती ही हैं ताकि वो उस  Network जिसको उन्होंने चुना हैं उसकी सेवाओं का लाभ उठा सके।

 

हम जो सिम कार्ड उपयोग में लेते है उसमें एक नंबर जुड़ा हुआ होता है साथ ही उसमें एक Security भी मौजूद होता हैं, जिसकी मदद से उसके नेटवर्क का पता चलता हैं कि आखिर यह उसको कौन उपयोग में ले रहा हैं।
eSim Kya Hai? ये कैसे काम करता हैं और इसका इसिहास क्या हैं? 
साथ ही आप इसमें Contacts और कुछ Messages को भी स्टोर कर पाते हैं। साथ ही जैसा कि आप देखते ही है कि बीते कुछ सालो में सिम कार्ड के साइज और छोटा कर दिया गया है, जिसे हम MiNi Sim, Nano Sim और Micro Sim के नाम से जानते हैं। जिसको हम अपने आज कल के फ़ोन्स में आये सिम कार्ड ऑप्शन्स के मुताबिक अपने फ़ोन लगते हैं।

 

अब तो आप यह सोच ही सकते है कि आखिर क्यों समय के साथ मे सिम कार्ड के साइज को छोटा कर दिया गया, पर इसका मुख्य कारण तो यह ही है कि समय मे साथ आये Smartphones में बदलाव के कारण हुआ हैं जिसमे आप देखते है कि फ़ोन को पहले से ज्यादा Slim कर दिया गया हैं साथ ही उसमें हर कई खोज के बाद एक नया Hardware जोड़ दिया जाता हैं जिसकी वजह से सिम को छोटा और MicroSd Card को गायब ही कर दिया जाता हैं।

 

READ -  What is Cyber Crime क्या हैं? साइबर क्राइम कितने Types के होते हैं? इनसे कैसे बचें - हिंदी में

eSim Kya Hai?

ई-सिम एक प्रकार का eSim/eUICC यानी (Embedded Sim Or Embedded UICC ) है जो कि एक ऐसी नई तकनीक हैं जो आपके अभी के फिजिकल सिम कार्ड हैं उनको ये आने वाले समय मे रिप्लेस कर सकता हैं, मतलब यह कि जब इसका चलन पूरी तरह से आ जायेगा तब eSim से अभी के सिम कार्ड को रिप्लेस किया जा सकता हैं।

eSim Kya Hai? ये कैसे काम करता हैं और इसका इसिहास क्या हैं? 

इस सिम की एक बड़ी बात यह है कि आप अपने नार्मल सिम कार्ड को तो कभी भी बदल सकते हैं या निकाल कर दूसरा लगा सकते हैं वैसे ही आप ई सिम को एक बार फ़ोन में जोड़ देंनेके बाद कभी भी बदल सकते हैं बस इसके लिए आपको वो Network Carrier चुनना होगा जो इसको सपोर्ट करता हो। तो चलिए अब जानते है कि eSim कैसे काम करती हैं?

 

eSim कैसे काम करती हैं?

दोस्तों यह एक ऐसी तकनीक हैं जो Nano Sim के और Micro दोनो ही सिम को हटा सकती हैं इसका मतलब यह है कि हो सकता है कि आने वाले समय मे आपके फ़ोन में कोई Sim ट्रे ही ना हो। तो यह काम कैसे करती हैं तो यह भी बहुत आसान हैं, eSim को यूज़ में लेंने के लिए आपका स्मार्टफोन भी उसके लिए कम्पेटिबल होना जरूरी हैं यानी कि आप जिस भी फ़ोन को खरीदेंगे उस फ़ोन में eSim सपोर्ट होना जरूरी हैं।

 

अगर आपका फ़ोन eSim को Support करता हैं तो आपको जिस भी कंपनी का Network Operator चाहिए आपको उसके कस्टमर सपोर्ट से बात करना होगा जिसके बाद आपको एक मिलेेेगा जिसको स्कैन करने के बाद आपका eSim आपके फ़ोन में एक्टिवेट हो जाएगा, आप इस काम को उस नेटवर्क ऑपरेटर के App की मदद से भी कर सकते हैं अगर वो नेटवर्क ई सिम को सपोर्ट करता होगा तो आपका ESim एक्टिवेट हो जाएगा।

 

अभी India में केवल eSim को Airtel और ही Support  करते हैं। हो सकता है आने वाले कुछ समय मे इसको सभी Network Operators उपयोग में लेने लगे। इसकी दूसरी खासियत यह है कि आप इसको कभी भी दूसरी में Switch कर सकते हैं।

Conclusion :-

आखिरकार हम यह कह सकते है कि आने वाले कुछ समय मे eSims का ही बोल बाला होगा और आने वाले फ़ोन्स में शायद फ्यूचर में यही सिम देखने को मिले। जैसे – जैसे नए फ़ीचर्स और ऑप्शन्स फ़ोन में जुुुड़ रहा हैं, वैसे ही यह उम्मीद लगाई जा सकती हैं की आने वाला समय इसका ही होगा।

 

अगर आपके मन मे इस से जुड़ी कोई सवाल या सुझाव हो तो आप मुझसे Comment के माध्यम से पूछ या बता सकते हैं। आपको ये पोस्ट कैसा लगा जरूर बताएं, मुझे उम्मीद है कि आप समझ गए होंगे कि eSim Kya Hai? ये कैसे काम करता हैं और इसका इसिहास क्या हैं? धन्यवाद, आपका समय शुभ हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here