PFMS Kya Hai? बहुत से लोगो को इसके बारे में नही पता होता हैं, तो अगर आपको भी नही पता कि PFMS Kya Hai? तो इस पोस्ट में आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे। आपको बता दे कि PFMS की शुरुआत 2016 में भारत सरकार के द्वारा किया गया था। वही इसमे Finance Ministry और Planning Commission दोनों ही साथ मे मिलकर काम करते हैं।

 

इसके अलावा PFMS से पहले धन राशि को सीधे Direct Benefit Transfer System के माध्यम से यूज़र्स को धन राशि दिया जाता था, जिसकी शुरुआत साल 2013 में हुआ था।

 

PFMS Kya Hai?

दरअसल में PFMS एक ऐसा सिस्टम है जिसकी मदद से यूज़र्स सरकार के द्वारा दी जा रही Subsidy और इस से जुड़ी अन्य धन लाभ को सीधे यूज़र्स के बैंक खाते में डाला जाता हैं।

 

भारतीय सरकार की तरफ से सबसे बेहतIरीन कदम है ताकि इसकी मदद से बीच मे होने वाली धोखा-धड़ी और भ्रष्टाचार जैसे मामलों को रोका जा सके और यूज़र्स को इस सब्सडी और मिलने वाले लाभों का पूरा फायदा मिल सके। PFMS एक तरह का आटोमेटिक सिस्टम होता हैं।

 

जो कि बिना किसी के दखल अंदाजी के केवल एक क्लिक से सभी यूज़र्स के Bank Accounts में लाखो रुपयों भेजा जाता हैं।

 

Full Form Of PFMS का फुल फॉर्म क्या हैं?

PFMS का फुल फॉर्म है: Public Financial Management System और जैसा कि आपको बताया है कि इसकी मदद से केंद्र सरकार द्वारा यूज़र्स को धन राशि दिया जाता है। जो यूज़र्स के Bank Account में सीधे भारत सरकार द्वारा डाला जाता हैं।

 

PFMS कैसे काम करता हैं?

तो हमने ये तो जान लिया कि PFMS Kya Hai? अब यह जानते है कि ये कैसे काम करता हैं। तो आपको बता दे कि यह एक तरह का यूजर जनरेटेड Software है, जो कि भारत के सरकार द्वारा नियंत्रित किया जाता हैं।

 

जिसमे सरकार के जुड़े प्रत्येक व्यक्ति का Details इसमे होता है, जिसे सरकार द्वारा समय-समय पर अपडेट किया जाता रहता हैं।

 

सरकार के पास में यूज़र्स में Save डिटेल्स की मदद से सरकार यूज़र्स को सब्सिडी या धन लाभ दे पाती है। वही यूज़र्स के डेटा को अपडेट करने का काम Planning Commission करता हैं।

 

बात करे नीति आयोग (Planning Commission) की तो यह उन यूज़र्स की सूची तैयार करता है जिनको सरकार द्वारा लाभ देना होता हैं। फिर जब सरकार किसी योजना के तहत यूज़र्स को लाभ पहुँचाना होता है तब नीति आयोग उन सभी यूज़र्स की सूची बनाता हैं, जिन यूज़र्स को लाभ दिया जाना होता हैं।

 



 

फिर यह उन सभी यूज़र्स की पूरी डिटेल्स तैयार करता है, जिसमे उनका नाम और Bank Account की डिटेल्स की सूची तैयार किया जाता हैं फिर इन सभी बैंक अकाउंट में एक साथ ही धनराशियों का वितरण कर दिया जाता हैं। इस तरह से आसानी से और बिना बीच मे आये दिक्कत के सीधा लाभार्थियों के खातों में पैसे पहुँच जाते हैं।

 

PFMS के लाभ क्या हैं?

इसके मिलने वाले लाभों की बात करे तो यह कई तरह की सुविधाएं देता है जो कि निम्नलिखित हैं:

 

  1. इसकी मदद से यूज़र्स के सीधे Bank Account में पैसे डाले जाते है जिसकी वजह भ्रष्टाचार नही हो पाता हैं और यूज़र्स को उसके पूरे पैसे मिल जाते हैं।
  2. इसके अलावा PFMS के आ जाने के बाद से यूज़र्स को अब ज्यादा इनके दफ्तरों के चक्कर नही काटने पड़ते हैं। नही तो पहले इसके न होने से यूज़र्स को दफ्तरों के बहुत चक्कर काटने पड़ते थे और अधिकारियों से विनती करनी पड़ती थी कि वे काम कर दे।
  3. PFMS के आ जाने से सरकार के द्वारा चलाई गई किसी भी तरह की सरकारी योजनाओं का लाभ जल्दी मिलने लगा हैं, नही तो पहले इस प्रक्रिया में काफी अधिक समय लगता था।
  4. इसकी वजह से यूज़र्स का समय का बहुत बचत होने लगा हैं और पारदर्शिता से काम होने लगा।
  5. अब पहले से काफी तेज़ी से और आसानी से सरकार लाभार्थियों के खातों में पैसे भेज पाती है, इसके आ जाने से अब एक बार मे लाखो यूज़र्स के बैंक खातों में एक साथ सरकार पैसे भेज पाते है।
  6. यह सिस्टम पूरी तरह से Electronic Payment System है, जो कि पपूरी तरह से Software और Internet पर बेस्ड हैं। जिसका मतलब यह कि इस से कोई भी छेड़खानी नही कर सकता है।
  7. इसमे DBT के तहत यूज़र्स के बैंक खातों में पैसों को Beneficiary के बैंक अकाउंट में जाता हैं। ऐसे में पैसों के लिए किसी पर आश्रित होने की जरूरत नही पड़ता हैं।

 

PFMS System के द्वारा मिलने वाली सब्सिडी?

भारत सरकार में द्वारा बहुत से तरह के योजनाओं के तहत लाभार्थियों को सब्सिडी का लाभ PFMS के द्वारा दिया जाता है जो कि उनके Bank Accounts में भेज दिया जाता हैं। निम्नलिखित हैं:

 

  • Students को मिलने वाली Scholarship देना।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना का मिलने वाला लाभ।
  • वृद्धा पेंशन के मिलने वाले पैसे।
  • कर्जमाफी।
  • गैस सिलेंडर पर सरकार के द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी।
  • MNREGA के तहत काम करने वाले मजदूरों के पैसे।
  • अन्य और कई तरह के सरकारी योजनाओं से जुड़े धनलाभ जो लाभार्थियों को PFMS के द्वारा ही यूज़र्स के Bank Account में पैसे भेजे जाते हैं।

 

 

कब शुरू हुआ था PFMS योजना?

इस योजना की शुरुआत भारत सरकार के द्वारा साल 2016 में किया गया था। इस योजना को Finance Ministry और Planning Commission के मिल कर किया गया था। जहां इन दोनों के साथ मिलने से दोनों को ही अपना काम करने में सहूलियत मिली।

 

वही PFMS System के आने से पहले यूज़र्स के खातों में धनराशि या सब्सिडी को (Direct Benefit Transfer) के तहत यूज़र्स के खातों में भेजा जाता था। DBT की शुरुआत साल 1 जनवरी 2013 को हुआ था, जहां इसको शुरू करने का सबसे बड़ा उद्देश्य यही था कि सब्सिडी के पैसों को सीधा इसके लाभार्थियों के बैंक खातो में पहुचाया जा सकें।

 

शुरुआत में PFMS का नाम CPSMS (Central Plan Scheme Monitoring System) था। पर साल 2016 से ही PFMS सिस्टम के द्वारा भारत सरकार के द्वारा चलाई जाने वाली सभी योजना का धन लाभ DBT के तहत यूज़र्स (लाभार्थियों) Bank Account में सीधे ही भेजे जाने लगें।

 

PFMS का उपयोग कैसे करें?

अगर आप PFMS का उपयोग करना चाहते है तो आपको सबसे पहले इसके Official Website परजाना होना।

  • जहां इसके होम पेज पर ही आपको ‘Know Your Payments‘ का ऑप्शन दिखाई दे जाएगा। इस पर अब आपको क्लिक करना हैं।
  • यहां आपको अपना Bank Account से जुड़ी जानकारियों को भरना होगा।
  • जिसमे आपको अपना नाम और बैंक अकाउंट नंबर इसके बाद जैसे ही आप ये सब भर देंगे।
  • उसके बाद नीचे दिया हुआ कैप्चा को भरना होगा। जिस पर कुछ वर्ड्स लिखे होंगे उसको बॉक्स में भरना होगा।

  • कैप्चा को भरने के बाद अब आपको Search के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है जिसके बाद आपकी PFMS के वेबसाइट पर आपकी जानकारी चली जायेगी।

 

इस तरह से आप PFMS की वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं, सरकार के पास हमारी बैंक डिटेल्स पहले से ही होते है क्योंकि Aadhaar जो है पैन कार्ड से लिंक है और आधार और पैन Bank Account से लिंक हैं। इस तरह से सरकार के पास में हमारी पूरी जानकारी होती है और जब हम किसी सरकारी योजना के तहत लाभ के लिए पैसे आने होते हैं तो आता हैं।

 

Conclusion –

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि ऊपर बताई गई बाते आप सही ढंग से समझ गए होंगे और समझ गए होंगे कि PFMS Kya Hai? यह कैसे काम करता हैं और PFMS के लाभ क्या हैं?। अगर कोई जानकारी मुझसे Miss हो गया हो या आपके पास हो कुछ बताने के लिए तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं।

 

इसी तरह की जानकारियों के लिए यहां आते रहे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करके हमारा मनोबल जरूर बढ़ाए। और अगर आपको किसी नए टॉपिक पर लेख चाहिए या किसी तरह की जानकारी चाहिए तो भी कमेंट के माध्यम या कांटेक्ट करके जरूर बताएं।

This post was last modified on 15/09/2021